लखनऊ:एडिशनल एसपी राजेश साहनी ने संदिग्ध परिस्थितियों में खुद को मारी गोली

प्रदेश
Typography

लखनऊ-- उत्तर प्रदेश के एटीएस हेडक्वॉर्टर में तैनात अपर पुलिस अधीक्षक राजेश साहनी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। हालांकि विभाग के उच्चाधिकारियों का कहना है कि उन्होंने आत्महत्या की है।

उनका शव मंगलवार दोपहर एटीएस के हेडक्वॉर्टर में उनके कमरे में मिला। सूचना मिलने पर सभी आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। राजेश साहनी ने अपने ऑफिशल रिवॉल्वर से खुद को गोली मारी है। हालाँकि उनकी आत्महत्या के पीछे की वजह का अभी तक पर्दाफास नहीं हुआ है। बता दें 1992 बैच के पीपीएस सेवा में चुने गए राजेश साहनी 2013 में अपर पुलिस अधीक्षक बने थे। वह मूलतः बिहार के पटना के रहने वाले थे। 1969 में जन्मे राजेश साहनी ने एमए राजनीति शास्त्र से किया था। राजेश साहनी ने बीते सप्ताह आईएसआई एजेंट की गिरफ्तारी समेत कई बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया था। 

राजेश साहनी की गिनती तेज तर्रार अधिकारियों में होती है। उन्होंने कई आतंकवादियों को गिरफ्तार किया था। वह एटीएस में एएसपी के पद पर तैनात था। गोमती नगर स्थित हेडक्वॉर्टर में उनका ऑफिस था। सूत्रों ने बताया कि साहनी मंगलवार को छुट्टी पर थे लेकिन वह फिर भी ऑफिस आए।