मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने बाल सुधार गृह का किया आकस्मिक निरीक्षण

प्रदेश
Typography

हरदोई -- उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में बाल संप्रेक्षण गृह में 2 दिन पूर्व बाल कैदियों में आपस में हुए बवाल में 15 बाल बंदियों के घायल होने की घटना के बाद प्रदेश की महिला विकास एवं बाल कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने आज राजकीय बाल संप्रेक्षण गृह का औचक निरीक्षण किया।

इस दौरान यहां की व्यवस्थाओं और बाल संप्रेक्षण गृह में मौजूद बच्चों से घटना के बारे में जानकारी हासिल की। मंत्री की मौजूदगी में ही बच्चों ने बाल संप्रेक्षण गृह के स्टाफ के विरुद्ध नारेबाजी भी की।  हरदोई पहुंची बाल विकास महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्री ने इस मौके पर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन को नापाक गठबंधन बताया। वही कैराना चुनाव में ईवीएम की खराबी को लेकर चुनाव आयोग से सुधार की जरूरत बताइए तो वहीं ईवीएम को चुनाव के लिए सबसे बेहतर बताया

वहीं प्रदेश की महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने आज सपा और बसपा के गठबंधन को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि,निपटना क्यों है यह तो लोकतंत्र है वह अपना गठबंधन बनाएंगे और हारेंगे गठबंधन तो आज तक इन लोगों के कभी सफल नहीं हुए अभी से ही शुरु हो गया है।रीता ने कहा भाजपा की इस समय 20 प्रदेशों में सरकार है और सरकार के पास दस करोड़ सदस्य हैं।

ईवीएम मशीनों में खराबी को लेकर पूंछे गए सवाल के जबाब में कहा कि, ईवीएम गर्मी की वजह से नहीं पहली बार आपको मालूम है कि वह स्लिप निकालने की व्यवस्था हो रही है। रिपोर्ट स्लिप निकलती है तो उसमे चिप लगता है उसका पहली बार ट्रायल हुआ संभवता उसकी वजह से हुआ होगा लेकिन जो भी त्रुटि है यह तो चुनाव आयोग को देखना है इसमें सरकार का कोई दखल है नहीं।  हम खुद ही चुनाव में उतरते हैं वह भी हमारे मालिक हैं मालिक जो होता है चुनाव के दौरान वह चुनाव आयोग होता है तो हमारा तो बस यही कहना है चुनाव आयोग को चाहिए जो त्रुटिया है उनको सुधारने बेहतर करें।

पेट्रोल की किमतो को लेकर रीता ने कहा,सुधारने का प्रयास हो रहा है प्रधानमंत्री जी ने मीटिंग करी है निश्चित रूप से बहुत जल्दी उस पर नियंत्रण पाया जाएगा। बाल सम्प्रेक्षण गृह में औचक निरिक्षण को लेकर रीता ने कहा, अभी 2 दिन पहले यहां एक बहुत वीभत्स घटना हुई थी। उन्होंने कहा हमारे जो बाल सुधार गृह है वह बच्चों को सुधारने के लिए हैं उन्हें ऐसा वातावरण और माहौल देना  है जो यहां से निकले तो अपराध से दूर रहे और उनकी शिक्षा होती रहे है ।

(रिपोर्ट-सुनील अर्कवंशी,हरदोई)